पी.सी.सी.टी.यू  ने सरकार से टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ को 31 जुलाई तक वर्क फ्रॉम होम लागू करने की माँग की

यूनियन के पदाधिकारियों की वीडियो कान्फ्रैसिंग के जरिए हुई मीटिंग 

पी.सी.सी.टी.यू  ने सरकार से टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ को 31 जुलाई तक वर्क फ्रॉम होम लागू करने की माँग की
पीसीसीटीयू, डा. सुखदेव सिंह रंधावा, प्रो. ब्रह्मदेव शर्मा, व डा विनय सोफत टीटिंग व नॉन स्टाफ के लिए वर्क फ्रॉम होम की माँग रखते हुए।

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: adscodetext

Filename: post/post.php

Line Number: 152

Backtrace:

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/views/post/post.php
Line: 152
Function: _error_handler

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/controllers/Home_controller.php
Line: 3419
Function: view

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/controllers/Home_controller.php
Line: 264
Function: post

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/index.php
Line: 319
Function: require_once

जालन्धर: पंजाब चंडीगढ़ कॉलज टीचर यूनियन के पदाधिकारियों की मीटिंग वीडियो कान्फ्रैसिंग के जरिए हुई, जिसमें पीसीसीटीयू के प्रधान डॉø ब्रह्मदेव शर्मा, जनरल सैक्रटरी प्रो. सुखदेव सिंह रंधावा, डा. घनश्याम देव-उप-प्रधान, डा. तरसेम सिंह भिंडर-जीएनडीयू एरिआ सेक्रेटरी, डॉø विनय सोफत-पूर्व महासचिव व अन्य पदाधिकारियों ने भाग लिया।  
इस मीटिंग में पदाधिकारियों डा. बह्मदेव शर्मा व डा. सुखदेव सिंह रंधावा ने प्रिंसीपल सेकै्रटरी हायर एजूकेशन पंजाब- राहुल भंडारी को माँग पत्र लिख कर उसमें स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय भारत सरकार की सचिव डा. अनीता करवल के पत्र 06 जुलाई, 2020 द्वारा भेजे गए पत्र संख्या नं 1-2/2020-IS.5 का हवाला देते हुए कहा कि इस पत्र के अनुसार सरकार की तरफ से दिशा निद्रेश की 31 जुलाई तक सभी शिक्षण संस्थानों- स्कूल कॉलेजों आदि में अति जरूरी कार्यों-ऑनलाईन अडमीशनस के अलावा स्टाफ को ज्यादा से ज्यादा वर्क फ्रॉम होम को लागू करने की माँग की ताकि कोविड-19 महामारी के चलते इनका संक्रमण से बचाव किया जा सके। उन्होंने दुख प्रगट किया कि वर्तमान दौर में पंजाब सरकार द्वारा यह निर्णय नहीं ले पाने के कारण समूह टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ के वर्ग में दुविधा का माहौल है इसलिए पंजाब सरकार को डीपीआई कॉलेजेस पंजाब को यह दिशा निद्रेश जारी कर इसे तुरंत लागू करना चाहिए जबकि यह निर्णय यूनियन टैरेटरी चंडीगढ़ में लागू किया जा चुका है। 
डा. विनय सोफत- पूर्व महासचिव ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा इस दिशा निद्रेश को लागू करवाने की ढिलमुल नीती व देरी के कारण समस्त शिक्षण संस्थानों के स्टाफ की सेहत के  साथ खिलवाड़ किया जा रहा है जिसका सभी में भारी रोष है।