सरकारी राशन किसके हुक्म से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को सौंपा गया: पुष्पिंदर सिंगल

कहा, अगर पारदर्शिता पसन्द है तो एक-एक किट का हिसाब पोर्टल पर डाला जाये 

सरकारी राशन किसके हुक्म से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को सौंपा गया: पुष्पिंदर सिंगल
पुष्पिंदर सिंगल

A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Undefined variable: adscodetext

Filename: post/post.php

Line Number: 152

Backtrace:

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/views/post/post.php
Line: 152
Function: _error_handler

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/controllers/Home_controller.php
Line: 3419
Function: view

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/application/controllers/Home_controller.php
Line: 264
Function: post

File: /www/wwwroot/cityairnews.com/index.php
Line: 319
Function: require_once

लुधियाना: भारतीय जनता पार्टी द्वारा पंजाब में सरकारी राशन के वितरण में गड़बड़ी होने के लगातार आरोप लगाए जा रहे हैं और इस संबध में खाद्य सुरक्षा समिति की मीटिंग में पंजाब के फ़ूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशु के यह कहने पर की वह  ऐसे भृष्ट लोगों पर कार्रवाई करेंगे का स्वागत करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष  पुष्पिंदर सिंगल ने कहा सरकारी सूत्रों के अनुसार जो 5.86 लाख राशन किटें लुधियाना के जरूरतमंदों  लिए आईं थी और उनका अधिकांश हिस्सा कांग्रेसी पार्षदों व कार्यकर्ताओं के हवाले करके उनकी बंदरबांट किसके हुक्म से करवाई गई मंत्री इसकी जांच कब करवाएंगे। 
सिंगल ने कहा आपदा की इस घड़ी में जरूरतमन्दों के लिए केंद्र व राज्य सरकार  द्वारा जनता के पैसे से खरीदे इस राशन को कांग्रेसियों द्वारा जिस तरह अपने वोट बैंक के तुष्टिकरण के लिए इस्तेमाल  बन्दबाँट की जा रही है वह निंदनीय है और एक निकृष्ट कार्य है । 
सिंगल ने कहा जो राशन स्कूलों में व पुलिस थानों में 1912 के माध्यम से गरीब लोगों को देना था वह कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के गोदामों में भेज दिया गया जो इस राशन का इस्तेमाल अपनी राजनीतिक छवि चमकाने के लिए कर रहे हैं ओर सरेआम गली-मोहल्लों में,अपने घरों,दुकानों व पार्कों में इस राशन की नुमाइश करके चेहरे व वोटर कार्ड देख कर लोगों को यह किटें दे रहे हैं ओर सोशल मीडिया में उनके द्वारा ऐसा करने की हज़ारों तस्वीरें व लाइव वीडियो मौजूद हैं।
सिंगल ने कहा भाजपा पार्षदों ने उन्हें बताया है कि लोकडाउन के दौरान प्रशासन ने उनसे उनके वार्डों में जरूरतमंद पंजाबियों व प्रवासियों का दो बार सर्वे करवाकर उनके पते व आधार कार्ड नंबरों की लिस्टें तैयार करवाई पर उन्हें राशन नहीं दिया गया और  ज्यादतर प्रवासी पैसे की किल्लत के कारण फाकाकशी से बचने के लिए अपने ग्रह राज्यों में लोट गए और अब यह राशन किटें उनके नामों पर जारी करके कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को थमाई जा रहीं हैं  जिसकी सी.बी.आई. जाँच होनी चाहिए।
सिंगल ने कहा उन्हें कई जगहों से ख़बरें मिल रही हैं कि इन कांग्रेसी नेताओं ने ऐसी ढेरों राशन किटें अपने चहेतों को थमा दीं हैं और वह इन किटों को ओने पोने दामों पर करियाना दुकानदारों को बेच रहे हैं और कई जगह से इस राशन को बांटने में देरी हो जाने के कारण कीड़े पड़ जाने की खबरे मिल रही हैं।
पुष्पिंदर सिंगल ने कहा उन्हें उम्मीद है कि भारत भूषण आशु जहाँ राशन वितरण में भ्र्ष्टाचार करने वाले सरकारी अमले व डिपुओं पर कार्रवाई करेंगे वहीं इस बात की भी विजिलेंस जांच करवाएंगे इतनी बड़ी मात्रा में यह राशन निजी हाथों में कैसे गया, कहां कहाँ बांटा गया ओर किसे किसे मिला और आशु एक एक राशन किट का हिसाब सार्वजनिक करते हुए उसे खाद्य विभाग के पोर्टल पर डालेंगे ओर गड़बड़ी करने वाले हर व्यक्ति पर चोरी व भ्र्ष्टाचार का केस दर्ज करवाएंगे।
सिंगल ने कहा अगर उन्हें इतने बड़े घोटाले के सबूत चाहिए तो मंत्री आशु को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी बस वह कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के सोशल मीडिया खातों की जांच कर लें उन्हें जांच करवाने में बहुत आसानी हो जाएगी।  उन्होंने कहा कि वह बहुत जल्दी इस संबध में सबूतों सहित एक ज्ञापन लुधियाना के डिप्टी कमिश्नर व फ़ूड सप्लाई मंत्री भारत सरकार को भी भेजने वाले हैं ताकि जनता द्वारा अपने खून पसीने की कमाई से दिए गए टैक्सों का सही इस्तेमाल हो और भृष्टाचारी बेनकाब हों सकें।